7 CS of Communication in hindi संचार के 7Cs क्या हैं?

संचार के 7Cs क्या हैं?

Effective Public Relations 1952 में प्रोफेसर Scott M. Cutlip और Allen H. Center द्वारा प्रकाशित एक पुस्तक है। यह जनसंपर्क (public relations) के क्षेत्र में पहली किताब थी।
इसी पुस्तक में ही संचार के सात C (Seven Cs of communication) का उल्लेख किया गया था।
यहाँ हम संचार के सात C (7 C's of communication) के बारे में विस्तार से जानेंगे —
  • संचार के 7 C's क्या है?
  • प्रभावी संचार के 7 C's —
    1. Completeness (पूर्णता)
    2. Conciseness (संक्षिप्तता)
    3. Consideration (सोच - विचार)
    4. Concreteness (स्थूलता)
    5. Courtesy (नम्रता/शिष्टाचार)
    6. Clarity (स्पष्टता)
    7. Correctness (यथार्थता/शुद्धता)

संचार के 7 C's क्या है?

Effective Public Relations Book में प्रभावी संचार के लिए सात सी सिद्धांत के बारे में बताया गया है। यहाँ सात सी से आशय Completeness, Conciseness, Consideration, Concreteness, Courtesy, Clearness और Correctness से है।
7 C's of Effective Communication
7 C's of Effective Communication


संचार के 7 C's —

1. Completeness

मैसेज अपने आप में पूर्ण होना चाहिए तथा आवश्यक तथ्यों का उल्लेख होना चाहिए जिससे कि प्राप्तकर्ता मैसेज को आसानी से समझ सके।

2. Conciseness

मैसेज हमेशा संक्षिप्त होना चाहिए और हमेशा इन बातों का ध्यान रखना चाहिए —
  1. मैसेज संक्षिप्त रखें।
  2. निरर्थक शब्दों का प्रयोग ना करें।
  3. केवल प्रासंगिक सामग्री शामिल करें।
  4. अनावश्यक पुनरावृत्ति से बचें।

3. Consideration

मैसेज लिखते समय यह ध्यान रखना चाहिए प्राप्तकर्ता कौन है? जैसे —
अगर प्राप्तकर्ता दस साल का बच्चा है —
यहाँ सरल-से-सरल शब्दों का प्रयोग करना चाहिए। जिससे वह बच्चा आसानी से समझ जाए।
अगर प्राप्तकर्ता किसी Company का CEO है —
यहाँ मैसेज को प्रभावी बनाने के लिए विशिष्ट और स्पष्ट शब्दों का प्रयोग करना चाहिए।

4. Concreteness

मैसेज विशिष्ट, निश्चित और स्पष्ट होना चाहिए इसके साथ इन बातों का ध्यान रखना चाहिए —
  • प्राप्तकर्ता के भाषा का ध्यान रखना चाहिए।
  • समय का विशेष ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि कार्य पूर्ण होने के बाद मैसेज निरर्थक हो जाता है।

5. Courtesy

नम्र भाषा का प्राप्तकर्ता पर अनुकूल प्रभाव पड़ता है, नम्रता में वृद्धि के लिए इन बातों का भी ध्यान रखना चाहिए —
  • प्रतिक्रिया शीघ्र-से-शीघ्र दें।
  • त्रुटि होने पर शीघ्र क्षमा माँगें।
  • हमेशा उदार रहें।

6. Clarity

संदेश स्पष्ट होना चाहिए और विशिष्ट लक्ष्यों को व्यक्त करना चाहिए। जिससे प्राप्तकर्ता मैसेज को उसी रूप और भाव में समझे जिस रूप और भाव में मैसेज को भेजा गया था। 

7. Correctness

 मैसेज में शुद्धता लाने के लिए हमेशा इन बातों का ध्यान रखना चाहिए —
  • सही भाषा का प्रयोग।
  • मैसेज विश्वसनीय होना चाहिए।
  • मैसेज में शामिल किये गए तथ्य, आंकड़ें और विवरण हमेशा सही होने चाहिए।
  • मैसेज में वास्तविकता (यथार्थता) होनी चाहिए।

एक टिप्पणी भेजें

Please do not spam we are commited to give you knowledgeable things.

और नया पुराने